झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने तोड़ी सोशल डिस्टेंसिंग

Share this:

कविकुमार
जमशेदपुर, 2 जून: झारखंड में कोविड-19 के खतरे को देखते हुए झारखंड सरकार ने लाॅक डाउन की अवधि 31 जुलाई तक बढ़ा दी है। इससे साफ है कि झारखंड में कोरोनावायरस अभी काबू से बाहर है। परंतु यह देख कर आम जनता आश्चर्यचकित रह जाती है कि सत्ता पक्ष के मंत्री यहां तक कि स्वास्थ्य मंत्री, विधायक, बड़े नेता और छुटभैये नेता कोविड-19 से बचाव के लिए बेहद जरूरी ‘सोशल डिस्टेंसिंग’ और ‘मास्क लगाने’ के सरकारी आदेश की धज्जियां उड़ा रहे हैं। दूसरी तरफ राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ‘घर में रहें, सुरक्षित रहें’ का नारा दे रहे हैं। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और सत्ताधारियों की अलग-अलग धारा से आम जनता भौंचक्की है।

27 जून को झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता आदित्यपुर स्थित सालडीह बस्ती गए। यहां दुष्कर्म एवं हत्या की शिकार नाबालिक बच्ची के परिवार से उन्होंने मुलाकात की और अपने विवेकाधीन मद से 50 हजार रुपए दिए। इस अवसर पर सरायकेला-खरसावां जिला के उपायुक्त, एसपी, पूर्वी सिंहभूम के पूर्व अध्यक्ष नट्टू झा, अजय सिंह वगैरह मौजूद थे। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन किया गया। स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता अपने चेहरे पर मास्क भी नहीं पहने थे24 जून को प्रदेश कांग्रेस भवन में झारखंड यूनियन आॅफ जर्नलिस्ट्स द्वारा सम्मान पत्र वितरण समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर बन्ना गुप्ता ने पत्रकारों को सम्मान पत्र दिया। इस समारोह में भी सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन किया गया।

21 जून को स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता अपने विधानसभा क्षेत्र में नागरिकों की समस्या सुनने निकल पड़े। इस दौरान उन्होंने कदमा भाटिया बस्ती, ईडन पार्क रेजिडेंसी व नगरकोट मेघदूत अपार्टमेंट के निवासियों से मुलाकात की। यहां बन्ना गुप्ता तो सोशल डिस्टेंसिंग में थे परंतु उनसे मुलाकात करने वाले लोगों ने सोशल डिस्टेंस का जबरदस्त उल्लंघन किया, परंतु मंत्री जी का ध्यान इस ओर नहीं गया।

21 जून को स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता एमजीएमसीएच गए तथा अधीक्षक को 10 लाख रुपए की राशि विधायक फंड से दी। यह रकम बिना तामझाम के दी जा सकती थी परंतु इस अवसर पर विशाल चेक बनाया गया। उसे लेने के लिए दर्जन भर डाॅक्टर एकत्रित हुए, जिला के सिविल सर्जन भी यहां मौजूद थे। यहां सोशल डिस्टेंसिंग का घोर उल्लंघन किया गया। ऐसा सिर्फ अपने प्रचार के लिए फोटो खिंचवाने के चक्कर में किया गया।

17 जून को सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के दौरान रांची शहीद अल्बर्ट एक्का चैक पर कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन किया। इसमें स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता भी मौजूद थे।

15 जून को प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में झारखंड प्रभारी आरपीएन सिंह के वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के दौरान भी कांग्रेसियों ने सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन किया। इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के अलावा प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष सह झारखंड के मंत्री रामेश्वर उरांव, मंत्री बादल पत्रलेख वगैरह मौजूद थे।

9 जून को रांची महानगर कांग्रेस द्वारा आयोजित रक्तदान शिविर में स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता शामिल हुए। इस दौरान भी सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन हुआ।
(कल पढ़े विधायक संजीव सरदार की सोशल डिस्टेंसिंग की खबरें)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!