टेंपो चालक प्रशासनिक आदेश को नहीं मान रहे, फैल सकता है कोरोना

Share this:

जमशेदपुर, 24 जून : जिला प्रशासन ने आम परिवहन में ऑटो रिक्शा को चलाने की सशर्त अनुमति दी है। शर्तें इसलिए लगाई गई हैं, जिससे कोरोनावायरस का फैलाव न हो। परंतु जमशेदपुर के अधिकांश ऑटो रिक्शा चालक प्रशासन की शर्तों को नहीं मान रहे हैं।

जिला के उपायुक्त ने ऑटो रिक्शा चालकों को आदेश दिया था कि वे सैनिटाइजर रखें तथा चढ़ने वाले यात्रियों के लिए इसका उपयोग करें। हर यात्री के उतरने पर टेंपो को सेनीटाइज करें तब दूसरे यात्री को बैठाएं। पर ऑटो रिक्शा चालक सैनिटाइजर रखते ही नहीं। प्रशासन ने पहले के मुताबिक हरेक यात्री का 3 गुना भाड़ा लेने की इजाजत ऑटो चालकों को दी है। शर्त ये रखी है कि वे पीछे की सीट पर सिर्फ दो यात्रियों को बैठाये। परंतु टेंपो ड्राइवर अपने बगल वाली सीट पर भी लोगों को बैठा रहे हैं।

जिससे सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ रही हैं और कोरोना संक्रमण बढ़ने का खतरा पैदा हो रहा है। ऑटो रिक्शा चालकों को जगह-जगह रुककर सवारी उठाने की मनाही है। उन्हें एक जगह से सवारी उठानी है और गंतव्य तक पहुंचाना है, परंतु ऑटो रिक्शा चालक जगह-जगह सवारी देख कर रुक जाते हैं और बिना सेनिटाइजेशन किये ही सवारी बैठा रहे हैं। इसके अलावा भी बहुत सी शर्तें रखी गई थीं। जिनका उल्लंघन शत-प्रतिशत ऑटो रिक्शा चालक कर रहे हैं।

हरेक रिक्शा चालक को अपने परमिट टेंपो के शीशे पर सटाने, नई परमिट न होने पर पुरानी परमिट सटाने की अनुमति अनुमंडल पदाधिकारी ने दी थी। परंतु 99 प्रतिशत ऑटो रिक्शा चालक ने परमिट की कॉपी शीशे में नहीं सटाई है। इसके अलावा सवारी का मोबाइल नंबर रखने जैसी अनेक शर्तों का उल्लंघन हो रहा है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!