लॉक डाउन में गन डाउन अपराधी, अनलॉक में बड़े अपराध की साजिश में गिरफ्तार

Share this:

जमशेदपुर, 6 जून : सरायकेला-खरसावां जिला के एसपी मोहम्मद अर्शी को गुप्त सूचनाएं प्राप्त हो रही थीं कि लाख डाउन के दौरान विभिन्न थाना क्षेत्र के अपराधियों ने एक गुप्त बैठक की है तथा अनलॉक होने के बाद वे किसी बड़ी आपराधिक घटना को अंजाम देने के फिराक में हैं। जिससे लोगों के मन में दहशत पैदा हो सके। जिससे वे रंगदारी की मोटी रकम वसूल सकें। एसपी को सूचना मिली कि दो अपराधकर्मी आग्नेय शस्त्रों के साथ लाल रंग की मोटरसाइकिल से कपाली क्षेत्र से आदित्यपुर थाना क्षेत्र में प्रवेश कर चुके हैं। ये अपराधी किसी बड़ी घटना को अंजाम दे सकते हैं।

एसपी के आदेश पर एक विशेष टीम का गठन कर कार्यवाही की गई। विशेष टीम द्वारा छापामारी के क्रम में आदित्यपुर थाना की मुस्लिम बस्ती एच. रोड से एक मोटरसाइकिल जिसका नंबर जेएच 05 वाई 2892 था, पर सवार दो अपराधकर्मी मोहम्मद फिरोज अंसारी उर्फ जल्ला फिरोज तथा कलीम खान को पकड़ा गया। जल्ला फिरोज के पास से एक 7 प्वाइंट्स 65 एमएम की पिस्टल एवं छह राउंड जिंदा गोली बरामद हुईं। कलीम खान के पास से 7 पॉइंट 65 एमएम की एक पिस्टल एवं दो मैगजीन मिली। मैगजीन में 14 राउंड जिंदा गोलियां थीं। एसपी मोहम्मद अर्शी ने प्रेस को बताया कि कलीम खान का गिरोह जमशेदपुर के मानगो थाना व आजाद नगर थाना क्षेत्र के साथ उड़ीसा राज्य के कई जिलों में सक्रिय है। जल्ला फिरोज का गिरोह सरायकेला-खरसावां जिले के आदित्यपुर, गम्हरिया, कपाली थाना क्षेत्र एवं जमशेदपुर के मानगो, आजादनगर व जुगसलाई थाना क्षेत्र के साथ ही पश्चिम बंगाल में सक्रिय है। दोनों अपराधकर्मियों से पूछताछ करने पर उनके द्वारा बताया गया कि लॉक डाउन के दौरान दोनों गिरोह की सक्रियता कम हो गई थी। अतः पुनः क्षेत्र में अपना वर्चस्व स्थापित करने के लिए दोनों गिरोह के सदस्यों ने एक साथ मिलकर आपराधिक घटना को अंजाम देने का निर्णय लिया। वे किसी बड़े राजनीतिक नेता या व्यापारी की हत्या का षड्यंत्र कर रहे थे। जिससे उनकी दहशत फिर से स्थापित हो जाए और वे रंगदारी के रूप में मोटी रकम वसूल सकें। उन्होंने अपने गिरोह के सदस्यों के बारे में बताया कि कपाली ओपी अंतर्गत डैमडूबी से सटे जंगल इलाके में उनके गिरोह के अन्य सदस्य रुके हुए हैं। इस जानकारी पर विशेष टीम के द्वारा डैमडूबी से सटे जंगल इलाके में छापामारी की गई। इस दौरान भागने के क्रम में दो बाइक पर सवार तीन अपराधकर्मियों को पकड़ा गया। उनसे पूछताछ करने पर उन्होंने अपना नाम मोहम्मद इरशाद, मोहम्मद दानिश उर्फ़ नेताजी और मोहम्मद इरफान बताया। इनकी तलाशी लेने पर मोहम्मद दानिश के पास से एक देशी कट्टा तथा एक जिंदा गोली बरामद हुई। मोहम्मद इरशाद के पास से एक देशी कट्टा तथा एक जिंदा गोली मिली। इसके अलावा उनकी एक बिना नंबर की मोटरसाइकिल तथा एक केटीएम मोटरसाइकिल जेएच 05 सीएम 7976 भी बरामद की गई। इस तरह इस अभियान में सरायकेला-खरसावां पुलिस ने 5 कुख्यात अपराधकर्मियों को गिरफ्तार किया। एसपी ने बताया कि मोहम्मद फिरोज अंसारी उर्फ जल्ला हीरोज के खिलाफ 7 अपराधिक मामले दर्ज हैं। इनमें से 6 मामले चांडिल कपाली ओपी के तथा एक पासकुड़ा पश्चिम बंगाल का है। कलीम खान के खिलाफ चांडिल कपाली ओपी में 2, आदित्यपुर थाना इलाके में 6, आरआईटी थाना में 1, बिरसानगर थाना इलाके में 1, राजनगर थाना इलाके में 2, जोशीपुर मयूरभंज थाना इलाके में 1 अपराधिक मुकदमा दर्ज है।

मोहम्मद दानिश उर्फ़ नेताजी के खिलाफ जुगसलाई थाना इलाके में 2 तथा कदमा थाना इलाके में 2 अपराधिक मामले दर्ज हैं। मोहम्मद इस इरशाद के खिलाफ चांडिल कपाली ओपी, आजाद नगर थाना, और पासकुड़ा थाना पश्चिम बंगाल में एक-एक मामले दर्ज हैं। इन सभी अपराधियों पर हत्या, हाफ मर्डर, आर्म्स एक्ट, लूट, डकैती जैसी गंभीर धाराओं के तहत मुकदमे दर्ज हैं। सरायकेला-खरसावां के एसपी मोहम्मद अर्शी ने छापामारी टीम को 25000  रुपये नगद पुरस्कार राशि प्रदान की तथा छापामारी टीम में शामिल पुलिसकर्मियों को प्रशस्ति पत्र देने की अनुशंसा पुलिस महानिदेशक झारखंड से की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!