जुस्को ने ख़ता की तो सजा भी वही भुगते -सरयू राय

Share this:

जमशेदपुर, 7 जुलाई : आज जमशेदपुर पूर्वी के विधायक सरयू राय ने जुस्को कंपनी के अधिकारियों को भिगा-भिगा कर जूते मारे। ऐसा तब हुआ जब जमशेदपुर पूर्वी इलाके की जनसुविधाएं व मोहरदा जलापूर्ति योजना को लेकर एक बैठक हुई। इस बैठक में विधायक सरयू राय के अलावा पूर्वी सिंहभूम के उपायुक्त रविशंकर शुक्ला एवं जुस्को के प्रतिनिधि मौजूद थे। बैठक में जुस्को ने अनेक समस्याओं का जिक्र किया, जो रघुवर सरकार से किए गए समझौते से संबंधित हैं। उन समझौतों को जुस्को ने पूरा नहीं किया है तथा अब जुस्को दबाव बना रही है कि उसकी बातें मान ली जाएं तभी समझौता पूरा किया जा सकेगा। इस पर जमशेदपुर पूर्वी के विधायक सरयू राय ने जुस्को से कहा कि यह उनकी गलत नीति है। जब उन्होंने समझौता करते समय दरियादिली दिखाई तो अब उस दरियादिली को बरकरार रखना चाहिए। उन्होंने मुंह देखी समझौता किया है तो उनकी सजा उन्हें ही भुगतनी पड़ेगी। जबकि समझौता की उन खामियों की सजा जनता भी भुगत रही है। पूर्व सरकार और जुस्को के  समझौते की सजा जमशेदपुर पूर्वी की जनता क्यों भुगते? विधायक ने कहा कि जुस्को ने मुंहदेखी समझौता क्यों किया, यह वे नहीं जानते परंतु जो कुछ हुआ उसके चलते जमशेदपुर पूर्वी क्षेत्र की समस्याएं बढ़ती जा रही हैं और सारा बोझ उन लोगों  के ऊपर आ रहा है। उन्होंने कहा कि वे रांची जाकर मुख्यमंत्री, जो नगर विकास मंत्री भी हैं, से बात करेंगे और समस्याओं का समाधान करने की कोशिश करेंगे। विधायक ने उम्मीद जताई कि वे सभी मिलकर बेहतर जमशेदपुर का निर्माण करेंगे। इस तरह जमशेदपुर पूर्वी क्षेत्र में विकास की नई शुरुआत होगी। पहले जो निर्णय लिए गए उनमें कई खामियां हैं। सरयू राय ने कहा कि ‘लम्हों ने खता की सदियों ने सजा पाई’। जो खता जुस्को ने की उसकी सजा जुस्को को ही भुगतनी होगी। बैठक में विधायक सरयू राय ने कहा कि उन्हें आश्चर्य होता है कि जमशेदपुर पूर्वी क्षेत्र में इतनी अधिक समस्याएं बनी हुई हैं। जमशेदपुर पश्चिम क्षेत्र में जितनी समस्याएं थीं, उससे अधिक समस्याएं जमशेदपुर पूर्वी क्षेत्र में अभी भी हैं। जुस्को ने सरकार से समझौता तो कर लिया, अब उसे समझौते पर काम करने में परेशानी हो रही है क्योंकि समझौता त्रुटिपूर्ण हैं पर जुस्को ने उस समय ध्यान नहीं दिया। विधायक सरयू राय ने जुस्को से कहा कि उनका तो यह मानना है कि मोहरदा जल आपूर्ति समझौता पूरी तरह जुस्को के पक्ष में है, फिर भी जुस्को को अपना वादा पूरा करने में कठिनाई हो रही है। जुस्को को उस वक्त यह समझना चाहिए था कि उन्होंने ऐसा समझौता क्यों किया। विधायक सरयू राय ने कहा कि समझौता 2017 में हुआ था और अब 2020 चल रहा है। बैठक में विधायक सरयू राय ने कहा कि केबल कंपनी के आवासीय इलाके में बिजली, पानी, सफाई की सुविधा जुस्को को देनी है। बागान इलाकों में पेयजल का कनेक्शन देना है। कहीं जुस्को ने कनेक्शन दिया तो कहीं नहीं दिया। भुईयाडीह, नंद नगर, कानू भट्टा इलाके में अभी तक पानी का कनेक्शन नहीं दिया गया। विधायक सरयू राय ने प्रेस को बताया कि जुस्को का कहना है कि उन्होंने मोहरदा जलापूर्ति के पानी का दर बढ़ाने का निवेदन पिछली सरकार से किया था, परंतु इस पर वाटर रेगुलेरिटी अथॉरिटी तथा संबंधित मंत्री ने कोई निर्णय नहीं किया। बैठक में विधायक सरयू राय तथा उपायुक्त ने जुस्को के प्रतिनिधियों से कहा कि सरकार पानी का दर बढ़ाएगी तो वह सिर्फ मोहरदा जलापूर्ति के लिए नहीं होगा। सरकार पूरे राज्य के लिए पानी का दर तय करेगी। जुस्को के लोगों ने कहा कि मोहरदा जलापूर्ति योजना के लिए जुस्को की बिजली वहां तक पहुंचाई जानी चाहिए। विधायक ने कहा कि इसके लिए सरकार नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट देने को तैयार है। उन्होंने कहा कि जलापूर्ति के दौरान बिरसानगर जोन नंबर 8, भूषण कॉलोनी, बागान एरिया वगैरह कई इलाके छूट गए हैं। बैठक में विधायक सरयू राय ने कहा कि वे जन हित की बात करेंगे, किसी के व्यवसायिक हित की बात नहीं की जाएगी। जमशेदपुर की जनता के हित ही प्राथमिकता दी जाएगी। उन्होंने कहा कि जमशेदपुर की सफाई मेंं कमी आ रही है।

ReplyForward

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!