टाटा पावर के ओवरलोड फ्लाई ऐश के कारण फैल रहा प्रदूषण और रोग

Share this:

जमशेदपुर, 3 जुलाई : टाटा पॉवर प्लांट के द्वारा फ्लाई ऐश को ओवरलोड हाइवा के द्वारा गैरकानूनी तरीके से बाहर भेजने एवं वायु प्रदुषण फैलाने के संबंध में जन सत्याग्रह संस्था द्वारा मांग पत्र सौंपा गया। मांग पत्र झारखंड सरकार के मुख्य सचिव, धालभूम के अनुमंडल पदाधिकारी, जमशेदपुर के कारखाना निरीक्षक और झारखण्ड राज्य प्रदुषण नियंत्रण पर्षद को दिया गया। पत्र में कहा गया कि जिस गाड़ी की वाहन क्षमता रोड परमिट के अनुसार 37 टन होती है उस गाड़ी में टाटा पावर प्लांट के द्वारा 52 टन से ऊपर फ्लाई ऐश लोड कर कंपनी से बाहर भेजा जाता है। जिस गाड़ी की वाहन क्षमता रोड परमिट के अनुसार 25 टन होती है, उस गाड़ी में टाटा पावर प्लांट के द्वारा करीब 37 टन से ज्यादा फ्लाई ऐश लोड किया जाता है। 

इसमें कंपनी के कुछ उच्च अधिकारियों और संबंधित सरकारी अधिकारी की मिलीभगत है। सामाजिक संस्था जन सत्याग्रह ने इनकी उचित जाँच कर तत्काल इस गैरकानूनी हरकत पर रोक लगाकर दोषी पदाधिकारियों पर कानूनी कारवाई करने का अनुरोध किया है।पत्र में कहा गया कि पर्यावरण के संरक्षण, नागरिकों व टाटा पावर के मज़दूरों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखने, सड़क को जल्द खराब होने से बचाने और दुर्घटना को रोकने के लिए प्राथमिकता के आधार पर सख्त कदम उठाये जाएं। पत्र देते समय सत्येंद्र शर्मा, महेश पासवान, आनंद कुमार, तवरेज खान, पवन कुमार, अनिल कुमार आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!