मनरेगा में फर्जी कार्यों की जांच एसीबी से कराएंगे मुख्यमंत्री

Share this:

जमशेदपुर, 14 जुलाई : मनरेगा योजनाओं में 50 प्रतिशत जाली काम करने और डोभा का निर्माण मज़दूरों के बदले पोकलेन मशीन से करने की जांच झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने एंटी करप्शन ब्यूरो  से कराने का आदेश जारी किया है। मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने देवघर जिला के देवघर प्रखंड स्थित मसनजोरा ग्राम पंचायत के मथुरापुर ग्राम में मनरेगा योजनाओं में बरती गई अनियमितता की  जांच के लिए भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो को पीई  दर्ज करने की अनुमति देते हुए जांच प्रतिवेदन शीघ्र उपलब्ध कराने का आदेश दिया है। ज्ञात हो कि मनरेगा योजनाओं में अनियमितता मामले में मसनजोरा ग्राम पंचायत की मुखिया श्रीमती गायत्री देवी, मुखिया पति अशोक ठाकुर और उनके सहयोगी लोचन महतो को दर्ज परिवादपत्र में आरोपी बनाया गया है।पूरे मामले के बारे में बताया जाता है कि मसनजोरा ग्राम पंचायत में मनरेगा के तहत जो योजनाएं ली गईं उनमें 50 प्रतिशत कार्य फर्जी पाए जाने की बात सामने आई है। इसके अलावा डोभा के निर्माण में भी जेसीबी मशीन का इस्तेमाल किया गया। फर्जी मास्टर रोल  के आधार पर राशि की भी निकासी कर ली गई, जो मनरेगा गाइडलाइन के प्रतिकूल है l

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!