वकील की हत्या के बाद सरजू-रघुवर में एलान-ए-जंग

Share this:

कविकुमार

जमशेदपुर, 22 जुलाई : आज झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास तथा उन्हें बीते चुनाव में हराने वाले विधायक सरयू राय के बीच राजनीतिक जंग जोर शोर से शुरु हो गई है। विधायक सरयू राय ने रघुवर दास से आर-पार की लड़ाई करने का मन बना लिया लगता है। उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रघुवर दास और उनके नवरत्नों के जमीन कब्जे और घपले-घोटाले की पोल खोलनी शुरू कर दी है।पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने सरयू राय को बिरसानगर, बागुनहातु और बारीडीह बस्ती में जमीन माफिया को संरक्षण देने वाला बताया है। जिसके कारण कल रात एक युवा वकील प्रकाश यादव की गला काट कर हत्या कर दी गई। रघुवर दास ने यह भी कहा कि जब उनकी सरकार थी तब जमीन माफिया पर पूरी तरह बंदिश थी। बीते चुनाव में भू माफिया और अपराधी का बोलबाला रहा। एक जनप्रतिनिधि दुष्प्रचार कर चुनाव जीत गया। उसी का परिणाम है कि आज पूरे जमशेदपुर में आतंक और अराजकता का शासन है।

सरयू राय पर आरोप लगाते मुख्यमंत्री रघुवर दास

रघुवर दास ने कहा कि उसी के कारण एक निर्दोष युवा वकील जनता के हित के लिए शहीद हो गया। रघुवर दास ने अपने समर्थक भाजपाइयों के साथ बड़ी भीड़ इकट्ठी की। उनके साथ झारखंड विकास मोर्चा से भाजपा में आए अभय सिंह भी थे। रघुवर दास ने दुष्प्रचार कर चुनाव जीतने वाले जनप्रतिनिधि का नाम तो नहीं लिया परंतु सब लोग समझ गए कि वे उन्हें हराने वाले जमशेदपुर पूर्वी विधानसभा क्षेत्र के मौजूदा विधायक सरयू राय के बारे में बोल रहे हैं। दूसरी तरफ मृत वकील प्रकाश यादव के भाई दिनेश कुमार ने आज अपने बयान में कहा कि जमीन माफिया को 10 सालों से मौजूदा केंद्रीय मंत्री तथा झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा ने संरक्षण दिया और अब जमीन माफिया को संरक्षण विधायक सरयू राय दे रहे हैं। कल दिनेश यादव ने अपने भाई की हत्या की प्राथमिकी बिरसा नगर थाना में दर्ज कराई थी। वे बिरसा नगर हरि मंदिर के निकट रहते हैं तथा वे भी वकील हैं। प्राथमिकी में उन्होंने अपने भाई प्रकाश यादव की हत्या का अभियुक्त अमूल्य कर्मकार, गौतम घोष, रामकिशोर मुखी वगैरह को बताया। आज उन्होंने कहा कि प्रकाश यादव और वे नीता प्रसाद तथा उनके पति निरंजन प्रसाद की जमीन का मुकदमा लड़ रहे थे। यह जमीन नीता प्रसाद ने 2006 में लक्ष्मण सोरेन नामक व्यक्ति से खरीदी थी। इस जमीन पर भारतीय जन मोर्चा के अमूल्य कर्मकार ने कब्जा कर लिया था। वह नीता प्रसाद से 20 लाख रुपए की मांग उनकी जमीन उन्हें वापस करने के लिए कर रहा था। प्रकाश की हत्या उसके घर से बुलाकर करीब 100 फीट की दूरी पर ले जाकर हरि मंदिर में कर दी गई।

वकील का अंतिम फेसबुक पोस्ट दिखाते हुए विधायक सरयू राय

विधायक सरयू राय ने पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास और उनकी नई नवेली दुल्हन (अभय सिंह) के बयान को गंभीरता से लिया तथा इन दोनों पर वकील हत्याकांड को राजनीतिक रंग देने का आरोप लगाया। विधायक ने ट्वीट भेज कर झारखंड के डायरेक्टर जेनरल ऑफ पुलिस से मांग की कि वकील हत्याकांड की जांच सीबीआई के द्वारा कराई जानी चाहिए। विधायक सरयू राय ने रघुवर दास के बारे में कहा कि वे अपनी हार पचा नहीं पा रहे हैं जबकि अभी तो सिर्फ 6 महीने बीते हैं। साढे 4 साल उन्हें और काटने हैं। भारतीय जनता पार्टी उन्हें केंद्र में ले जाकर मंत्री बना दे वे खुशी से मंत्री बन जाए। परंतु यहां रहना है तो उन्हें हार को पचाना होगा और शालीनता से रहना होगा। सरयू राय ने कहा कि रघुवर दास उन्हें निमंत्रण देंगे तो वे नेवता पुराएंगे। वे किसी का उधार नहीं रखते। जो देता है वे सूद सहित उसे लौटते हैं।प्रेस सम्मेलन में रघुवर दास के आरोपों का जवाब देते हुए विधायक सरयू राय ने कहा कि वे किसी का कपड़ा नहीं खोलना चाहते परंतु अगर कोई खुद चौराहे पर अपना कपड़ा खोलने पर उतारू हो जाए तो वे कुछ नहीं कर सकते। 

वकील की हत्या के आरोप में पकड़े गए आरोपी

विधायक ने कहा कि बिरसानगर में अगर जमीन माफिया है तो उनका उदय 6 महीने में नहीं हुआ। यहां 25 साल से जो विधायक थे तथा 5 साल मुख्यमंत्री रहे उस समय से जमीन माफिया का उदय हुआ। सरजू राय ने कहा कि नीता प्रसाद ने आदिवासी की जमीन खरीदी जो गैरकानूनी है। उन्होंने कहा कि तीन सदस्यीय समिति बनाई गई है। जिसके स्पेशल ब्रांच के रिटायर डीएसपी आरके सिंहा संयोजक हैं और बबलू यादव तथा वकील रवि शंकर पांडेय उसमें शामिल हैं। यह समिति जांच करेगी कि जमशेदपुर में किसने माफियागिरी की? विधायक ने कहा कि रघुवर दास के भाई गोलमुरी थाना में घुसकर गिरफ्तार किए गए एक सिख युवक को हाज़त से बाहर निकालकर थानेदार के सामने पीटते थे। उनका पुत्र टाटा स्टील में नौकरी करते हुए भी सड़क पर पुलिस बल के साथ घूमता था। उनके दर्जनभर सिपहसालार हैं, जो अभी भी उनके साथ हैं, उन्होंने अलग-अलग मोहल्लों में जमीन कब्जा की है और उस पर करोड़ों की इमारतें बनाई हैं।

हत्या के पहले वकील का फेसबुक पोस्ट दर्शाता है कि उन्हें अपनों ने धोखा दिया

टाटा स्टील की जमीन लूटकर पांच मंजिली इमारत बना रहे हैं। विधायक सरयू राय ने प्रश्न किया कि किसने जुस्को का शौचालय तोड़कर अपना कार्यालय बना लिया है। भालुबासा में नाले के ऊपर 15 साल से किसका मार्केट चल रहा है। इन सारी बातों की जांच यह समिति करेगी। उन्होंने कहा कि जिनके घर शीशे के होते हैं वे दूसरों के घर पर पत्थर नहीं फेंकते। जमीन कब्जा का गुण विरासत में रघुवर दास को मिला है। वे अपनी पुश्तैनी और कब्जे की जमीन का ब्यौरा दें। जब वे मुख्यमंत्री थे तभी उक्त सारी बातें हुईंं। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी को अपनी और फजीहत करानी है तो दागदार दामन वाले नेताओं को बर्दाश्त करती रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!