जमशेदपुर की पहचान पर भाजपा अध्यक्ष का कब्जा

Share this:

जमशेदपुर, 20 अगस्त : दूसरे शहरों से जमशेदपुर आने वाले लोगों को जमशेदपुर की पहचान कराने वाले मानगो जयप्रकाश सेतु का द्वार राजनीतिक दलों के पोस्टर और बैनर ढका रहता है। पुल के द्वार पर जमशेदपुर आने वाले अतिथियों के स्वागत की बात लिखी गई है। यह द्वार जमशेदपुर की शान कहा जाता है परंतु इन दिनों इस द्वार पर भारतीय जनता पार्टी के नए जिलाध्यक्ष गुंजन यादव के बैनर का कब्जा है।

‘जयप्रकाश सेतु और जमशेदपुर में आपका स्वागत है’ लिखे गए बोर्ड को छुपा कर गुंजन यादव ने उसके ऊपर अपना फोटो और नाम लिखा हुआ बैनर लगा दिया है। ऐसा पुल के बोर्ड के दोनों ओर किया गया है जिससे जमशेदपुर से बाहर निकलने वाले और जमशेदपुर में प्रवेश करने वाले लोग गुंजन यादव का चेहरा देख सकें। याद रहे पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास की पैरवी पर उनके मुंह बोले भतीजे गुंजन यादव को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने जमशेदपुर महानगर अध्यक्ष बना दिया। इससे पहले रघुवर दास के भगना दिनेश कुमार जमशेदपुर के महानगर अध्यक्ष थे। दिनेश कुमार को अध्यक्ष पद से हटाने की मांग हुई तो रघुवर दास ने अपने सबसे चहेते गुंजन यादव को अध्यक्ष बनवाया। जबकि दिनेश कुमार में राजनीतिक समझ थी। 

राजनीतिक जानकारों के मुताबिक गुंजन यादव की सबसे बड़ी काबिलियत यह है कि कि वे रघुवर दास के मुंह बोले भतीजे हैं।गुंजन यादव के पिता राजेंद्र यादव रघुवर दास के बाल सखा रह चुके हैं। रिटायर होने के बाद उन्हें भी कई साल एक्सटेंशन दिला कर रघुवर दास ने जमशेदपुर अंचल कार्यालय में काम कराया। बहरहाल जमशेदपुर महानगर अध्यक्ष बनते ही गुंजन यादव ने पचासों फ्लेक्स बनवाएं और दूसरे लोगों की होर्डिंग पर कब्जा कर बिना अनुमति के अवैध तरीके से फ्लेक्स लगा दिया।

परंतु जब उन्होंने जयप्रकाश सेतु के मुख्य द्वार पर अपना बैनर लगवाया तो जमशेदपुर की जनता को यह काफी आपत्तिजनक लगा। चौंकाने वाली बात यह है कि मानगो नगर निगम के अधिकारियों को महीने भर से लगा गुंजन यादव का यह बैनर नजर नहीं आ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!