पुलिसिया पिटाई से मौत का आरोप लगाकर सैंकड़ों अल्पसंख्यकों ने गोलमुरी सड़क जाम की

Share this:

जमशेदपुर, 21 अगस्त : आज करीब 3:30 बजे दोपहर बर्मामाइंस पुलिस की पिटाई से मौत का आरोप लगाते हुए गोलमुरी निवासी नौशाद आलम के परिवार के लोग उनकी लाश को लेकर गोलमुरी मेन रोड पर बैठ गए। सड़क जाम करने के लिए सड़क पर एक कार और एक ओमनी लगा दी गई। कार पर झारखंड मुक्ति मोर्चा का झंडा लगा हुआ था। सड़क जाम ठीक मस्जिद रोड के शुरुआत पर गोलमुरी मेन रोड पर किया गया। अल्पसंख्यक समुदाय के सैकड़ों लोग जाम में शामिल थे। पुलिस के खिलाफ नारेबाजी भी कर रहे थे।

कुछ लोगों ने सड़क पर टायर जलाने की कोशिश की पर पुलिस में टायर नहीं जलाने दिया। इसके अलावा पुलिस मूक दर्शक बनकर सड़क जाम का नजारा देख रही थी। पुलिस के साथ अर्धसैनिक बल के जवान भी थे। जबकि शहर में कोरोना संक्रमण के कारण एक विशेष नियम जारी है। जिसके तहत 5 से अधिक लोग भीड़ नहीं लगा सकते तथा सोशल डिस्टेंसिंग किसी भी हालत में नहीं तोड़ सकते। इतना कुछ होने के बाद भी पुलिस के बड़े अधिकारी बातचीत कर सड़क जाम हटाने के लिए करीब 1 घंटे बाद पहुंचे। सूत्रों के मुताबिक समाचार लिखे जाने शाम 5:30 बजे तक गोलमुरी के पूर्व थाना प्रभारी रणविजय सिंह तथा डीएसपी ट्रैफिक मौके पर पहुंच चुके हैं और नौशाद आलम के परिजन और समर्थकों से बातचीत कर रहे हैं।

नौशाद आलम के परिजनों का आरोप है कि बर्मामाइंस और गोलमुरी पुलिस ने उनके घर में संयुक्त रुप से छापा मारा और नौशाद आलम को पकड़ कर ले गई। इसके बाद बर्मामाइंस थाना में नौशाद आलम की पिटाई की गई। फिर पुलिस नौशाद आलम को महात्मा गांधी मेमोरियल मेडिकल कॉलेज अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में दाखिल करा कर चली गई। परिवार वाले सूचना पाकर एमजीएमसीएच पहुंचे और नौशाद की गंभीर हालत को देखकर उसे टाटा मेन हॉस्पिटल ले गए। आज अस्पताल में नौशाद की मौत हो गई। उसकी लाश लेकर उसके परिजन गोलमुरी सड़क पर बैठ गए। लाश का कोरोना टेस्ट भी नहीं कराया गया। नौशाद आलम 48 साल के बताए जाते हैं तथा वे मस्जिद रोड गोलमुरी के निवासी हैं।

मालूम हो नौशाद आलम प्रकरण पर 11 अगस्त 2020 को सीनियर एसपी तमिल वाणन ने बयान जारी करते हुए कहा था कि बर्मामाइंस थाना में नौशाद आलम के साथ मारपीट की घटना सरासर गलत एवं झूठ है। उन्होंने डीएसपी ट्रैफिक श्री शिवेंद्र से इस मामले की जांच कराई। जांच रिपोर्ट के मुताबिक टाटा स्टील की ट्रकों से कुछ लोग बैटरी, पेट्रोल, यूरिया टंकी वगैरह चोरी करते थे। ऐसे चार कांड बर्मामाइंस थाना में दर्ज कराए गए थे। बर्मामाइंस पुलिस ने गश्ती के दौरान सत्यवीर सिंह नामक एक चोर को 10 अगस्त को वाहन से चोरी करते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया। उसकी निशानदेही पर पुलिस गोलमुरी निवासी नौशाद के घर गई। चोर सत्यवीर सिंह ने पुलिस को बताया था कि चोरी का सामान वह गोलमुरी आकर नौशाद आलम को बेचता है। पुलिस नौशाद आलम को पूछताछ के लिए बर्मामाइंस थाना ले गई। पुलिस वाहन से उतरने के समय ही नौशाद आलम पसीना से तरबतर हो गया। पूछने पर उसने बताया कि वह हाई ब्लड प्रेशर का मरीज है।

सीनियर एसपी ने कहा कि इसके बाद बर्मामाइंस के थाना प्रभारी ने तुरंत होने दवा दिलाई। इसके बाद भी जब नौशाद आलम ठीक नहीं हुआ तो तुरंत उसे पीसीआर वैन और बर्मामाइंस थाना के पदाधिकारी एमजीएम अस्पताल ले गए और उसे दाखिल कराया। पुलिस ने उसके परिवार वालों को भी सूचना दी। परिवार वाले भी अस्पताल पहुंचे। डीएसपी ने नौशाद की जांच करने वाले डॉक्टर से बातचीत की। डॉक्टर ने भी उसे हाई ब्लड प्रेशर होने की बात कही। नौशाद के परिवार वालों ने उसे टाटा मेन हॉस्पिटल ले जाने को कहा तथा वहां दाखिल किया।

ReplyForward

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!