भाजपा द्वारा लैंड म्यूटेशन बिल के विरोध के बहाने सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन

Share this:

जमशेदपुर, 20 सितंबर : झारखंड सरकार द्वारा एक तरह से ‘लैंड म्यूटेशन बिल 2020 को वापस लेने का मन बना लिया गया है। इसी कारण विधानसभा में बिल को पेश भी नहीं किया गया। फिर भी आज जमशेदपुर भाजपा महानगर ने लैंड म्यूटेशन बिल 20 के विरोध में प्रदर्शन किया, भीड़ इकट्ठी की और सोशल डिस्टेंसिंग की खुलकर धज्जियां उड़ाईंं।

जिससे कोरोना संक्रमण फैलने का पूरी संभावना बनी। रविवार को महानगर अध्यक्ष गुंजन यादव के नेतृत्व में भाजपा कार्यकर्ताओं ने जिला कार्यालय से साकची गोलचक्कर तक विरोध मार्च निकाला। कार्यकर्ताओं ने इस दौरान हेमंत सरकार के खिलाफ नारे लगाते हुए प्रस्तावित बिल की प्रतियाँ जलाकर विरोध प्रकट किया। महानगर अध्यक्ष गुंजन यादव ने कहा कि हेमंत सोरेन सरकार की कैबिनेट ने पिछले दिनों ‘झारखंड लैंड म्यूटेशन एक्ट-2020’ के लिए तैयार बिल को मंजूरी दी है।

उन्होंने कहा कि राज्य में अब अंचल अधिकारी (सीओ) समेत राजस्व से जुड़े अन्य किसी भी अधिकारी के खिलाफ कोई भी कार्रवाई नहीं की जा सकेगी। किसी गलती के लिए उन्हें जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकेगा। झारखंड सरकार का ऐसा निर्णय गरीबों रैयतों के अधिकारों का हनन करेगा, पूरे महकमे में भ्रष्टाचार बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि झारखंड लैंड म्यूटेशन बिल राज्य के आदिवासियों एवं मूलवासियों को उनकी जमीन से बेदखल करने की राज्य सरकार की साजिश है।

ReplyForward

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!