रामभक्तों पर कांग्रेस ने वर्षों तक किया अत्याचार, देश से माफ़ी मांगें : रघुवर दास

Share this:

जमशेदपुर, 30 सितंबर : अयोध्या में छह दिसम्बर 1992 को बाबरी मस्जिद विवादित ढांचा विध्वंस मामले में सीबीआई की विशेष अदालत ने 28 साल बाद अपना फैसला सुनाया है। अदालत ने सभी अभियुक्तों को बरी कर दिया है। जिनमें भाजपा और आरएसएस के कई दिग्गज नेताओं के नाम शामिल हैं। न्यायालय के उक्त फ़ैसले के बाद देशभर में ख़ुशी का माहौल है।

जमशेदपुर में भी भाजपाइयों ने जमकर खुशियां मनाई। झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवर दास के एग्रिको स्थित आवास के समक्ष पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं ने मिठाइयां बाँटकर जश्न मनाया। इस दौरान एक दूसरे को लड्डू खिला कर खुशी का इजहार किया। विशेष अदालत के निर्णय के आलोक में भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवर दास ने फैसले को ऐतिहासिक बताते हुए काँग्रेस पर तीव्र प्रहार किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी के कारण वर्षों तक अयोध्या मामला लटका रहा और रामभक्तों पर सरकारी तंत्रों का दुरुपयोग करते हुए अत्याचार हुआ।

श्री दास ने कहा कि ये फैसला सिद्ध करता है कि तत्कालीन कांग्रेस सरकार द्वारा राजनीतिक पूर्वाग्रह से ग्रसित होकर, वोट बैंक की राजनीति के लिए देश के पूज्य संतों, बीजेपी नेताओं, संघ और विहिप से जुड़े पदाधिकारियों एवं समाज से जुड़े विभिन्न संगठनों के पदाधिकारियों को बदनाम करने के लिए उन्हें झूठे मुकद्दमें के व्यूह में फंसाया गया था। पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवर दास ने माँग की कि इसके लिए जिम्मेदार कांग्रेसी देश की जनता से माफी मांगे। इस मौके पर भाजपा प्रदेश मंत्री रीता मिश्रा, पूर्व जिला अध्यक्ष रामबाबू तिवारी, दिनेश कुमार, कुलवंत सिंह बंटी, भूपेंद्र सिंह, विपल्लव कुमार, अभिषेक सिंह, कपिल महतो सहित अन्य भाजपाई मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!