रिया की गिरफ्तारी से झारखंड के मंत्री व्यथित, लोगों ने मंत्री पर कसा तंज

Share this:

जमशेदपुर, 8 सितंबर : सिनेस्टार सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में आज उनकी प्रेमिका रिया चटर्जी की गिरफ़्तारी एनसीबी ने ड्रग्स के मामले में की।रिया के गिरफ्तारी का झारखंड में सबसे ज्यादा दुख झारखंड के पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री मिथिलेश कुमार ठाकुर और मुन्ना ठाकुर को हुआ।

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को ट्वीट कर अपनी वेदना जाहिर की। ट्वीट में मिथिलेश कुमार ठाकुर ने लिखा ”क्या तमाशा है?? जुर्म साबित होने से पहले ही सजा ?? क्या और एक आत्महत्या करवाएंगे आप ?? शर्म आनी चाहिए !इसके साथ ही मिथिलेश कुमार ठाकुर ने अपने ट्वीट में रिया की गिरफ्तारी के वक्त के चार फोटो भी डालें। मंत्री जी का यह ट्वीट देखने के बाद विशाल होरो ने उन पर तंज कसते हुए कहा कि झारखंड की नियुक्तियों के संबंध में भी कुछ बोल दीजिए। आरपी शाही ने लिखा कि मिथिलेश जी, मेरी राय है कि हम बाहरी तमाशों में न पड़कर अपने राज्य की जन सुविधाओं पर ध्यान दें। कृपया शहर में बढ़ती जनसंख्या के लिए पीने के पानी के लिए नए स्रोत पर चर्चा शुरू करें। पुराने वाले 20% लोगों को भी पानी नहीं दे पाते।

कोरिल कुमार ने लिखा कि मेरे और विकलांगों के साथ आपके ही विधानसभा क्षेत्र गढ़वा के जेल के अंदर उत्पीड़ित किया जा रहा है। मुझे न्याय चाहिए। राज ने लिखा कि मंत्री जी, झारखंडी युवाओं के बारे में सोच लिया कीजिए। यहां तो आपके झूठे वादों के कारण आत्महत्या दर बढ़ गई है। आप लोगों ने तो झारखंडी युवाओं के भरोसे को तोड़ सब को बर्बाद करने की ठान ली है, लगता है। सुरेंद्र कुमार महतो ने लिखा कि मिथिलेश कुमार ठाकुर जी, आप इस मामले को छोड़ दीजिए। देश की बेहतरीन टीम सीबीआई के द्वारा जांच चल रही है। जो जैसा करेगा वैसा भरेगा। आप झारखंड के मामलों में ध्यान केंद्रित करें। 1932 लागू कर झारखंड के मूल निवासी बेरोजगारों को रोजगार से जोड़ें।

हरीश ने लिखा कि ऐसा कानून आप नेता मंत्री लोग ही बनाते हैं। हम जनता तो बस आप लोग पर भरोसा करके वोट देती है। अजय सरकार ने लिखा कि कुछ संजय रावत के बारे में बोल दो भाई। हर्ष ने लिखा कि तमाशा आप युवाओं के साथ कर रहे हैं। जिसने आपको कुर्सी पर बैठाया। न जेएसएससी और न ही जेपीएससी की कोई वैकेंसी अब तक आई है। नेहा निषाद ने लिखा कि रिया इतना दुखी अपने ब्वॉयफ्रेंड सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर भी नहीं हुई, जितनी मीडिया के धक्के से हो गई। वह हर रोज सुशांत को चार बूंद जहर दे रही थी तब उसे तकलीफ या झिझक नहीं हुई। पर यह बात बताने में उसे तकलीफ हो रही है। 

बेरोजगार झारखंड पंचायत ने लिखा कि यहां यूथ मर रहे हैं, उसकी थोड़ी फिक्र नहीं है आपको। पंकज कुमार ने लिखा है सुशांत की हत्या के समय ऐसी भावना नहीं जागी, कांग्रेस और शिवसेना को। पर रिया को कुकर्म की थोड़ी सी क्या तकलीफ हुई, आप लोगों से रहा नहीं जा रहा है। आपकी सरकार आरोपी को बचाने के लिए इतना उत्सुक क्यों रहती है? जैसे यहां लालू को… सत्या सिंह ने लिखा कि मंत्री जी आपको कैसे पता चला कि यह आत्महत्या है क्या आप सीबीआई हैं। दो तीन लोगों ने मंत्री के पक्ष में भी लिखा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!