5 साल की सौतेली बेटी का हत्यारा सौतेला पिता गिरफ्तार, अपने बच्चे के जन्म की लालसा में की हत्या

Share this:

जमशेदपुर, 4 सितंबर : सोनारी न्यू कपाली बस्ती की निवासी 5 साल के बच्ची की निर्मम हत्या का खुलासा जमशेदपुर पुलिस ने कर लिया है तथा हत्या के आरोप में सुप्रियो घोष उर्फ राजा हिटलर को कल गिरफ्तार कर लिया। आज उसे जेल भेज दिया गया। राजा हिटलर मृत बच्ची का सौतेला बाप है।

उसने 2 साल पहले बच्ची की मां रजनी घोष से प्रेम विवाह किया था। उसके बाद से बच्ची की मां राजा हिटलर के साथ डिमना रोड मानगो गोकुल नगर में रहती थी। बच्ची को नानी के घर न्यू कपाली बस्ती सोनारी में छोड़ दिया था। नानी के घर से बच्ची का अपहरण 31 अगस्त को शाम के वक्त राजा हिटलर ने किया। 1 सितंबर को बच्ची की मां ने सोनारी थाने में बच्ची के लापता होने की सूचना दी तथा 2 सितंबर को स्वर्णरेखा नदी के किनारे बच्ची की लाश झाड़ियों में पुआल से ढककर छुपा कर रखी हुई मिली।

पूरी घटना के बारे में सीनियर एसपी तमिल वाणन ने कहा कि उन्होंने एसपी सिटी सुभाष चंद्र जाट के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया। जिसने तेजी से अनुसंधान कर बच्ची के हत्यारे को गिरफ्तार कर लिया। उन्होंने बताया कि हत्यारा बच्ची का सौतेला बाप राजा हिटलर था। हत्या का कारण बताते हुए सीनियर एसपी ने गिरफ्तार हत्यारे के हवाले से कहा कि राजा हिटलर 21 साल का था तथा उसकी पत्नी रजनी घोष 22 साल की थी।

शादी के बाद उनके पारिवारिक जीवन में अनेक समस्याएं थींं। राजा हिटलर बताता है कि उसकी पत्नी का किसी अन्य से अनैतिक संबंध भी था। इसके लिए उसने अपनी पत्नी को चेतावनी भी दी थी। उसने कई बार अपनी पत्नी रजनी घोष से बच्चा जन्म देने को कहा परंतु उसकी पत्नी बच्चा जन्म देना नहीं चाहती थी। राजा हिटलर ने इसका कारण अपनी सौतेली बेटी को माना और उसकी हत्या कर दी। उसने समझा कि बेटी की हत्या करने पर उसकी पत्नी बच्चे को जन्म देने को तैयार हो सकती है। 

सीनियर एसपी ने बताया कि 31 अगस्त को शाम को वह बच्ची को अपनी स्कूटी में घुमाने के लिए ले गया। हत्या के बाद पुलिस से बचने के लिए उसने पूरी तैयारी कर रखी थी। बच्ची को घुमाने में उपयोग की गई स्कूटी उसने उसी दिन सुबह एमजीएम थाना इलाका से चोरी की थी। बच्ची को घुमाने ले जाते उसे कई लोगों ने देखा था। इसलिए वह बच्ची को घुमा कर फिर बस्ती में वापस आया और उसे स्कूटी से उतार दिया। उसने बच्ची को 5 रुपये दिए और कहा कि वह बस्ती की दुकान से टॉफी खरीद लें और फिर मेन रोड में आकर उससे मिले। बच्ची उसे अपना पापा समझ कर बहुत प्यार करती थी और उस पर विश्वास करती थी। बच्ची ने वैसा ही किया।

वह मेन रोड से बच्ची को स्कूटी में लेकर वह रिंग रोड सोनारी गया तथा स्कूटी सड़क किनारे खड़ी कर बच्ची को पैदल नदी किनारे ले गया। वहां गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। लाश छुपाने के लिए उसने झाड़ियों के बीच रख दी तथा ऊपर से पुआल डाल दिया। हत्या में उपयोग किए गए अपने कपड़ों को उसने नदी में बहा दिया। सीनियर एसपी ने कहा की लाश को सिगरेट से दागने और उसके साथ कुकर्म करने की बात हत्यारे ने गलत बताई। इसके लिए पुलिस बच्ची के पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है, फिर भी पुलिस ने प्राथमिकी में अभियुक्त के खिलाफ पोक्सो एक्ट लगा दिया है।

सीनियर एसपी ने बताया कि राजा हिटलर इससे पहले भी महिला की लज्जा भंग करने के आरोप में एमजीएम थाना द्वारा गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। उस दौरान वह 3 महीने तक जेल में रहा। सीनियर एसपी ने कहा कि आज अखबारों में छपी यह न्यूज़ कि हत्या में चार लोगों का हाथ है, गलत है। बच्ची की हत्या अकेले उसके सौतेले पिता राजा हिटलर ने की। हत्या के बाद 2 दिनों तक  हत्यारे ने बच्ची की मां, बस्ती वालों तथा पुलिस के साथ बच्ची को खोजने में कड़ी मेहनत की। जिससे पुलिस को उस पर शक न हो। 

बच्ची का गला दबाकर मारने के बाद राजा हिटलर को यह विश्वास नहीं हुआ कि सचमुच वह मर गई है। इसलिए उसने उसकी लाश नदी के पानी में काफी देर तक डुबाए रखी। इसके बाद उसे झाड़ी में छुपाया। मालूम हो कल न्यू कपाली बस्ती के लोगों ने सोनारी थाने में प्रदर्शन किया था तथा हत्यारे राजा हिटलर को उनके सुपुर्द करने की मांंग की थी। बस्ती वालों को कहना था कि हत्यारे को सजा वे देंगे। बड़ी मुश्किल में पुलिस ने बस्ती के सैकड़ों लोगों को समझाया था।

ReplyForward

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!