टाटा की जमीन पर अवैध कब्जा कर इमामबाड़ा बनाने पर लगी रोक

Share this:

जमशेदपुर, 2 अक्तूबर : आज अहिंसा के पुजारी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जन्मदिन कदमा में दो समुदाय के लोग आपस में हिंसा करने के लिए जुट गए। कारण वही पुराना था, टाटा स्टील की जमीन पर अवैध कब्जा करना।

सूत्रों के मुताबिक अल्पसंख्यक समुदाय के कुछ लोग कदमा थाना के निकट कंपनी क्वार्टर के बीच की बेशकीमती जमीन पर कब्जा कर इमामबाड़ा का निर्माण कर रहे थे। इसके लिए चबूतरा बना लिया गया था। आज सिर्फ घेराबंदी का काम चल रहा था।अवैध अतिक्रमण करने वाले असामाजिक तत्वों ने जुम्मे का फायदा उठाकर इमामबाड़ा के नाम पर अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को एकजुट कर लिया।

मालूम हो सप्ताह भर पहले टाटा स्टील के लैंड विभाग ने यहां के कब्जे को हटाया था। जिससे अवैध अतिक्रमणकारी के मंसूबे पर पानी फिर गया था। टाटा लैंड विभाग के अधिकारियों ने कदमा थाना को भी लिखित में शिकायत दी थी कि यहां अवैध अतिक्रमणकारी टाटा स्टील की जमीन पर कब्जा करना चाहते हैं, कृपया कब्जा होने से रोका जाए। परंतु पुलिस ने इस ओर ध्यान नहीं दिया। जिससे आज जुम्मे के दिन अवैध अतिक्रमणकारी और ज्यादा भीड़ लाकर अवैध अतिक्रमण करने लगे।

सूचना मिलने पर विश्व हिंदू परिषद के अनेक लोग भी मौके पर पहुंच गए और वहां एक पोल पर बजरंगबली की तस्वीर लगाकर भगवा झंडा फहरा दिया। विश्व हिंदू परिषद के लोगों का कहना था कि अगर टाटा स्टील की जमीन पर कब्जा करके इमामबाड़ा बनाया जा सकता है तो वे भी यहां कब्जा करके हनुमान जी का मंदिर बनाएंगे। इससे टकराव की स्थिति पैदा हो गई।

तब कदमा पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों पक्ष के लोगों को पीछे हटाया एवं इमामबाड़ा के नाम पर अवैध अतिक्रमण को तोड़ दिया। इसके बाद विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता भी संतुष्ट होकर वापस चले गए। बताते हैं कि अगर पुलिस में टाटा लैंड विभाग के पत्र मिलने के बाद उचित कार्रवाई की होती तो यह अशोभनीय बात पूज्य बापू के जन्मदिन पर नहीं होती।

ReplyForward

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!