नशेड़ियों के हाथों में पिस्तौलें, 10 फायर, 2 को गोली लगी

Share this:

जमशेदपुर, 5 अक्तूबर : आज धातकीडीह ए ब्लॉक, लाइन नंबर 2 में नशेड़ी गिरोह के अनेक लोगों ने मारपीट की और गोलियां चलाईंं। जिससे लाइन नंबर दो के दो लोग मोहम्मद मुस्तकीम और मोहम्मद कयूम सिद्दीकी घायल हुए। कयूम की छाती में तथा मुस्तकीम के पैर में गोली लगी।

दोनों को इलाज के लिए टाटा मेन हॉस्पिटल में दाखिल कराया गया। गोली चलाने वाले नशेड़ी गिरोह का सरगना अब्दुल सलमान खान भी मौके पर मौजूद था। सलमान और उसका गिरोह भालूबासा इलाके का निवासी बताया जाता है। आज गिरोह के लोग धातकीडीह स्थित अपने नशेड़ी मित्र जैदी के पिता से मिलने उनके घर पहुंचे। मालूम हो 3 अक्ततूबर को नशेड़ी जैदी ने अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या का प्रयास किया था।

समय से उसे देख लेने के चलते उसके पिता ने उसे फौरन फंदे से नीचे उतारा और टाटा मेन हॉस्पिटल में एडमिट कराया। डॉक्टरों ने जैदी को बचा लिया पर उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। आज सलमान गिरोह के लोगों ने जैदी के पिता के साथ यह कहकर मारपीट शुरू की कि उनके चलते ही जैदी ने फांसी लगाई तथा अब वे उसका उचित इलाज नहीं करा रहे हैं। नशेड़ी सलमान ने उनसे यह भी कहा कि उन लोगों ने अपने बेटे जैदी को नशेड़ी बनने पर मजबूर किया।

यह सुनकर जैदी के पिता सन्न रह गए। उन्होंने अपनी सफाई दी पर सलमान गिरोह के लोगों ने उनकी पिटाई शुरू कर दी। यह देख पड़ोस के लोग जमा हो गए और बीच-बचाव करने लगे। सलमान के नशेड़ी गिरोह के लोगों ने बीच-बचाव करने वालों को भी पीटना शुरू कर दिया। यहां के निवासी अधिक संख्या में जुट गए और उन लोगों ने नशेड़ी गिरोह पर पथराव कर दिया। जिससे नशेड़ी गिरोह कुछ दूर भागा।

मौके पर मौजूद चश्मदीद हसमत अली ने बताया कि नशेड़ी सलमान के ग्रुप में करीब 50 लोग थे। उन लोगों मैं से  5 लोगों के पास पिस्तौल थी। उन लोगों ने करीब 10 राउंड गोलियां चलाईंं। जिससे मोहम्मद मुस्तकीम और कयूम सिद्दीकी घायल हो गए। अजमत अली ने बताया कि जहां भी नशेड़ी गिरोह के किसी सदस्य पर अत्याचार होता है तो पूरा गिरोह एक साथ उन पर हमला कर देता है। ऐसे ही आज  जैदी के पिता पर हमला किया गया।

मौके पर बिष्टुपुर थाना प्रभारी के साथ ही एसपी सिटी सुभाष चंद्र जाट पहुंचे। उन्होंने बताया कि सलमान आर्म्स एक्ट का भगोड़ा अभियुक्त है। सीतारामडेरा थाना इलाके में उसका गिरोह काम करता है। आज उन लोगों ने जैदी के पिता पर आरोप लगाया कि वे उसका इलाज सही तरीके से नहीं करवा रहे हैं। जबकि असली कहानी यह है कि जैदी के रुपयों से सभी नशा का सेवन करते थे। उसके द्वारा आत्महत्या की कोशिश करने से सलमान गिरोह के लोगों को रुपए मिलने बंद हो गए।

जिससे बौखला कर उन लोगों ने जैदी के पिता से बदला लेने के लिए उनके साथ उनके घर आकर उठापटक की और धमकी दी। स्थानीय लोगों ने बीच-बचाव किया तो अवैध आर्म्स निकालकर उन लोगों ने चार पांच फायरिंग की। जिससे दो लोगों को गोली लगी। ये दोनों जैदी के पिता को नशेड़ी गिरोह से बचा रहे थे। एसपी सिटी ने कहा कि घटनास्थल से खोखा एवं जिंदा गोलियां बरामद हुई हैं। लोगों का कहना है कि नशेड़ी गिरोह काफी पहले से संचालित है।

पुलिस को इसकी खबर कई बार दी गई है, परंतु पुलिस इस गिरोह के सदस्यों को पकड़ पाने में सफल नहीं हो रही है। उन्होंने कहा कि नशेड़ी लोग खुद ही मदहोश रहते हैं वैसे में उनके हाथों में पिस्तौल आ जाएगी तो वे किसी को भी गोली मार सकते हैं। चाहे वह आम नागरिक को या पुलिस का पदाधिकारी। धातकीडीह के लोगों ने मांग की है कि पुलिस प्रशासन फौरन नशेड़ी गिरोह पर अंकुश लगाएं साथ ही नशा बेचने वालों पर भी सख्त कार्रवाई करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!