सरायकेला-खरसावां पुलिस की बड़ी सफलता, वाहन चोरों, लुटेरों के बड़े गिरोह का भंडाफोड़, कई वाहन बरामद

Share this:

जमशेदपुर, 5 अक्तूबर : सरायकेला खरसावां पुलिस ने एक वाहन चोर गिरोह का भंडाफोड़ किया है। चोर गिरोह के सदस्यों ने एक वाहन भारत से चुरा कर नेपाल में बेचा है। यह जानकारी आज सरायकेला खरसावां जिला के एसपी मोहम्मद अरशी ने दी। इस चोर गिरोह का हाथ अपराध में भी है। अपराध के दौरान ये चोरी की गाड़ी का उपयोग करते हैं।

एसपी ने बताया  कि 4 सितंबर की रात को कपाली ओपी इलाके एवं चौका थाना इलाके में रात के वक्त अज्ञात अपराधकर्मियों द्वारा दो बोलेरो गाड़ी की चोरी की गई थी। कुछ लूट एवं चोरी की घटनाएं भी सामने आई थीं, जिनमें चार पहिया वाहनों का इस्तेमाल हुआ था। इन घटनाओं में किसी संगठित गिरोह का हाथ होने की आशंका से एसपी सरायकेला खरसावां ने अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी सरायकेला एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी चांडिल के नेतृत्व में विशेष टीम का गठन किया था।

गुप्त सूचना के आधार पर 2 अक्तूबर को कपाली ओपी क्षेत्र से चार पहिया वाहनों की चोरी करने वाले गिरोह के मास्टरमाइंड धीरज शर्मा उर्फ मुन्ना शर्मा तथा मनीष श्रीवास्तव को गिरफ्तार किया गया। ये वाहनों की चाबी बनाने का काम करते थे। इन दोनों अपराधियों ने कई चार चक्का वाहनों की चोरी में भी अपनी मौजूदगी स्वीकार की। इनकी निशानदेही पर 3 अक्तूबर को छापामारी कर बिहार स्थित सुपौल से चोरी के वाहनों के खरीदार मोहम्मद फूल हसन उर्फ अशरफ हसन को गिरफ्तार किया गया।

इसकी निशानदेही पर मानगो थाना क्षेत्र से सितंबर महीने में चोरी की गई सुमो गोल्ड को अररिया जिला से बरामद किया गया एवं कपाली ओपी क्षेत्र से चोरी की गई बोलेरो को बरामद हेतु छापामारी की जा रही है। छापामारी के क्रम में 4 अक्तूबर को पटना बिहार से मोहम्मद अलाउद्दीन को गिरफ्तार किया गया। उन्होंने स्वीकार किया कि जमशेदपुर के गोविंदा डे एवं बच्चा मिश्रा द्वारा चोरी किए गए वाहनों को वे खरीदते हैं और स्क्रैप बनाकर बेच देते हैं।

मोहम्मद अलाउद्दीन की निशानदेही पर एग्रीको थाना सीतारामडेरा क्षेत्र से चोरी की गई बोलेरो बरामद की गई। इस बोलेरो को 28 29 सितंबर की रात को चोरी किया गया था। छापामारी टीम द्वारा जमशेदपुर, चाईबासा, सरायकेला खरसावां जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रों से कुछ महीनों पहले वाहन चोरी, शराब दुकान में चोरी, लूट एवं अन्य चोरी की घटनाओं के मुख्य अपराधकर्मी गोविंदा डे, बच्चा मिश्रा उर्फ निहार मिश्रा और राजू कालिंदी को गिरफ्तार किया गया।

इन अपराधियों ने दर्जन भर से अधिक कांडों में अपनी संलिप्तता स्वीकार की। इन दोनों द्वारा अगस्त एवं सितंबर महीने में पाली क्षेत्र से बोलेरो गाड़ी की चोरी, चौका थाना क्षेत्र से पिकअप बोलेरो की चोरी, सरायकेला थाना क्षेत्र की शराब दुकान में चोरी, बिरसानगर थाना क्षेत्र से बोलेरो की चोरी, सिदगोड़ा थाना क्षेत्र से बोलेरो की चोरी, एमजीएम थाना क्षेत्र से सुमो गोल्ड की चोरी, खरसावां थाना क्षेत्र में बंधन बैंक के कर्मचारी से लूट, कदमा थाना क्षेत्र से सुमो गोल्ड की चोरी के अपराध स्वीकार किए।

एसपी ने बताया कि सभी गिरफ्तार अपराधी पिछले 5 साल से कोल्हान प्रमंडल में आतंक का पर्याय बने हुए थे। अपराधियों के ऊपर विभिन्न थानों में 50 से ज्यादा विभिन्न कांड अंकित हैं। ये कई बार गिरफ्तार होकर जेल भी जा चुके हैं परंतु जमानत पर बाहर निकल कर पुनः अपराध की घटना को अंजाम देते हैं। इस गिरोह के पकड़े जाने से एक अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह का भंडाफोड़ हुआ है। जो सरायकेला खरसावां पुलिस के लिए एक बड़ी उपलब्धि है।

इस गिरोह में शामिल अन्य अपराधकर्मियों की गिरफ्तारी के लिए छापामारी की जा रही है। एसपी ने बताया कि गोविंदा डे और निहार उर्फ बच्चा मिश्रा पर करीब 10 आपराधिक मामले दर्ज हैं। यह मामले सरायकेला थाना, ईचागढ़ थाना, बागबेड़ा थाना, सिदगोड़ा थाना, कदमा थाना, आदित्यपुर थाना और चांडिल थाना में दर्ज है। गिरफ्तार अन्य अभियुक्तों के विरुद्ध भी बिहार और झारखंड के थानों में प्राथमिकी अंकित है। इस मामले में कुल 5 लोग गिरफ्तार किए गए हैं।

जिनमें पुरुलिया के निवासी गोविंदा डे, सिदगोड़ा के निवासी बच्चा मिश्रा, पटना सिटी के निवासी अलाउद्दीन सिदगोड़ा के निवासी राजू कालिंदी, गया के निवासी उमेश कुमार उर्फ सोनू और सुपौल बिहार के निवासी हसन उर्फ अशरफ हसन शामिल हैं। पुलिस ने एमजीएम थाना क्षेत्र से चोरी की गई सुमो गोल्ड, सीतारामडेरा थाना से चोरी की गई बोलेरो और वाहन स्टार्ट करने के लिए उपयोग में लेने वाली लोहे की कील नुमा चाबी बरामद की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!