कोरोना काल में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने हाथ मिलाया

Share this:

कवि कुमार

जमशेदपुर, 25 दिसंबर : कोविड-19 के कारण पिछले 9 महीनों से पूरे देश के लोग हाथ मिलाना भूल चुके हैं। क्योंकि हाथ मिलाने से कोरोना वायरस फैलने की संभावना शत-प्रतिशत रहती है।सरकार ने तो यहां तक नियम बना रखा है कि लोग एक दूसरे से 6 फीट की दूरी पर रहेंं।

सब जानते हैं कि झारखंड में कोविड-19 का सबसे ज्यादा प्रकोप रांची में है। उसके बाद अन्य जिलों का नंबर आता है। परंतु 23 दिसंबर 2020 को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के काफिले में शामिल रांची के डीसी, एसपी, दंडाधिकारी और अनेक पुलिस और प्रशासन के पदाधिकारी भौंचक्के रह गए जब मुख्यमंत्री से संत जेवियर स्कूल डोरंडा रांची के फादर ने हाथ मिला लिया। मुख्यमंत्री ने भी उनका साथ दिया और उनका हाथ अपने हाथ में पकड़ लिया। 

मालूम हो आज रांची स्थित संत जेवियर स्कूल में स्कूल प्रबंधन और जिला प्रशासन के सहयोग से आयोजित ‘मिशन वन मिलियन स्माइल्स’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इसके तहत जरूरतमंद लोगों को कंबल का वितरण किया जाना है। इसकी शुरुआत मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अपने हाथों से कंबल बांटकर की। पर उन्होंने कोविड-19 के नियमों की अनदेखी कर दी। सेंट जेवियर्स स्कूल प्रबंधन के उच्च अधिकारी ने भी मुख्यमंत्री की सुरक्षा को ध्यान में नहीं रखते हुए उनके सामने हाथ मिलाने के लिए अपना हाथ बढ़ा दिया। मुख्यमंत्री के सुरक्षाकर्मियों ने भी इस पर गौर नहीं किया और मुख्यमंत्री से हाथ मिलाने वाले को नहीं रोका।

इस अवसर पर संत जेवियर स्कूल डोरंडा के प्रिंसिपल फादर संजय केरकेट्टा, उपायुक्त रांची छवि रंजन, “मिशन वन मिलियन स्माइल्स” मुहिम के समन्वयक सह उपसमाहर्ता संजय पांडेय सहित महिलाएं एवं बच्चे बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

ReplyForward

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!