प्रशासन द्वारा आदिवासी शिक्षिका का घर तोड़ने का विरोध

Share this:

जमशेदपुर, 18 दिसंबर : आज जिला प्रशासन द्वारा अतिक्रमण हटाओ अभियान के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी झारखंड प्रदेश अनुसूचित जनजाति मोर्चा के मीडिया प्रभारी राम सिंह मुंडा ने प्रेस विज्ञप्ति जारी की है। इसमें कहा गया है कि किसी मुजरिम को फांसी देने से पहले उसकी अंतिम इच्छा पूछी जाती है परंतु हेमंत सरकार के जिला प्रशासन ने बिना नोटिस दिए एक गरीब परिवार को उजाड़ने का काम किया है।

आज अतिक्रमण हटाओ अभियान के तहत जमशेदपुर अंचल के अंचलाधिकारी व अनुमंडल अधिकारी पूरे तामझाम के साथ सुपुडेरा गांव पहुंचे और 40 वर्षों से रह रही पूजा किरण मुंडा पिता स्वर्गीय दास मुंडा के घर को तोड़ा। किसी व्यक्ति के इशारे पर बरसों पुराना मकान को ढा दिया गया। विदित हो कि पूजा किरण मुंडा बच्चों को ट्यूशन पढ़ा कर अपना गुजर-बसर करती हैंं। वह अपने टूटे-फूटे खपरैल मकान को एक-एक पैसा जोड़कर मरम्मत कराने का काम करा रही थींं।

एक स्थानीय व्यक्ति ने उक्त मकान की मरम्मत करने पर अंचल कार्यालय में शिकायत दर्ज कराई। अंचलाधिकारी ने उक्त व्यक्ति के झांसे में आकर आज पूजा किरण मुंडा का मकान  ढाह दिया। विदित हो कि खाता नंबर 372 प्लॉट नंबर 1525 स्वर्गीय मंगल तमाड़िया उर्फ स्वर्गीय मंगल मुंडा अवैध दखल बिहार सरकार की जमीन पर लगभग 50 से 60 वर्ष पहले से कच्चा मकान बनाकर रह रहे थे। आदिवासी विरोधी इस कृत्य के लिए राम सिंह मुंडा ने हेमंत सरकार को जिम्मेदार ठहराया है।

उन्होंने कहा कि बहुत ही उम्मीदों के साथ झारखंड राज्य के आदिवासियों ने हेमंत सोरेन को मुख्यमंत्री बनाया था। परंतु हेमंत सरकार यदि आदिवासियों को उजाड़ने का काम करती है तो भारतीय जनता पार्टी कभी बर्दाश्त नहीं करेगी।

ReplyForward

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!