महिलाओं का शिक्षित और प्रशिक्षित होना जरूरी – बेसरा

Share this:

जमशेदपुर, 22 दिसंबर : तिरला हिरला (महिला सशक्तिकरण) संगठन का पहला स्थापना दिवस मंगलवार को जमशेदपुर स्थित ट्राइबल कल्चरल सेंटर में कोविड-19 की गाइडलाइन के तहत सम्पन्न हुआ।     

तिरला हिरला ट्रस्ट की स्थापना गत वर्ष 22 दिसंबर 2019 को हुई थी। इस संगठन का मुख्य उद्देश्य महिला सशक्तिकरण यानि महिलाओंं को प्रशिक्षित कर स्वरोजगार मुहैया कराना है।      कार्यक्रम की अध्यक्षता ट्रस्ट की चेयरपर्सन श्रीमती सलमा हाँसदा ने की। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में  संस्थान के संरक्षक सूर्य सिंह बेसरा तथा विशिष्ट अतिथि के रूप मे लघु कुटीर उद्योग विकास बोर्ड पूर्वी सिंहभूम जिला की समन्वयक मंजू मिंज उपस्थित थीं।    

जिला समन्वयक मंजू मिंज ने मुख्यमंत्री लघु एवं कुटीर उद्यम बोर्ड द्वारा संचालित सभी योजनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी दी। मुख्य अतिथि के तौर पर पूर्व विधायक सूर्य सिंह बेसरा ने कहा कि झारखंड की नारी फूल नहीं चिंगारी है। आधी आबादी अब तुम्हारी बारी है। श्री बेसरा ने प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि जब तक महिलाएँ शिक्षित और प्रशिक्षित नहीं होंगी तब तक महिलाओं पर अत्याचार खत्म नहीं होगा।    

 विशिष्ट अतिथि मंजू मिंज द्वारा “तिरला हिरला ट्रस्ट” का आजीवन सदस्यता प्रमाणपत्र वितरित किया गया। उनमेंं कुन्ती बेसरा, झानो हाँसदा, साकरो हाँसदा, हीरा हाँसदा, रतनी बास्के, सालोनी मुर्मू, नसीमा खातून आदि शामिल थीं। कार्यक्रम के प्रारम्भ में श्रीमती सलमा हाँसदा ने वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए कहा कि संताल विश्व विद्यालय के अन्तर्गत अमेरिका न्यूयार्क के “फीमी” संगठन ने “तिरला हिरला” को एक वर्ष के अंतराल मेंं एक उपलब्धि बतायी।  अन्त में ट्रस्ट की वाइस चेयरपर्सन श्रीमती रीना सेनापति ने धन्यवाद ज्ञापन दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!