समाजसेवी ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

Share this:

जमशेदपुर, 18 दिसंबर : समाजसेवी रविंद्र नाथ चौबे ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को एक पत्र लिखा है तथा अपने कुछ सुझाव दिए हैं। जिससे सरकारी योजनाओं का लाभ अधिक से अधिक लोगों को मिल सके। श्री चौबे ने अपने खत में लिखा है कि झारखंड राज्य बनने के बाद बहुत उम्मीद जगी थी कि छोटा राज्य होने के कारण आम जनता को बिना दौड़े अधिकतम सेवा मिल पायेगी

परन्तु बीस साल के अनुभव से यह सिद्ध हुआ है कि राज्य छोटा हो या बड़ा कार्य की प्रक्रिया या व्यवस्था बहुत पेंचीदी, जटिल, परेशान करने वाली तथा राजप्रताप के दबदबा से भरपूर है।संविधान के 73 वेंं और 74 वेंं संशोधन के बाद त्रिस्तरीय पंचायती व्यवस्था और शहरों के नगरपालिकाओं को कानून बना कर सत्ता विकेंद्रीकरण करने का प्रयास हुआ। राज्य सरकार और उसके मंत्रालय व्यवस्था ईमानदारी से नहीं कर पा रहे हैंं। फलत: सत्ता मंत्रालय में ही रह जाती है।

इसलिए आम जनता सहजता पूर्वक अधिकतम लाभ से वंचित रह जाती है। इसलिए पिछले पचास सालों से विचारशील राजनीतिक कार्यकर्ता होने के नाते अपने अनुभवों के आधार पर आपसे निम्नलिखित आग्रह करता हूं। १) प्रमंडलीय स्तर पर क्षेत्रीय विकास सह निगरानी प्राधिकार का गठन किया जाये। २) प्रमंडलीय आयुक्त के पद पर अवर मुख्य सचिव स्तर के अधिकारी पदास्थापित किया जाए।

३) प्रमंडल स्तर पर एक छोटा सचिवालय गठित किया जाये। ४) आयडा, बियाडा और रियाडा में किये गये त्वरित निर्णय के लिए प्रक्रियागत स्वायत्तता को पूरे राज्य में लागू किया जाये। ५) जब तक यह प्रस्तावित व्यवस्था लागू नहीं हो पाती है तबतक विभिन्न विभागों के प्रधान सचिवों को उनके अधीन चल रही योजनाओं की वस्तुस्थिति की जानकारी लेने के विभिन्न जिलों और नगरों में तीन महीने या छः महीने में एक बार जरूर भेजने की व्यवस्था करने की कृपा करें। ६) सचिव, प्रधान सचिव और अन्य बड़े अधिकारियों को अपने वाट्स ऐप पर जागरुक और जिम्मेदार नागरिकों के साथ संवाद करते रहने की व्यवस्था को सुनिश्चित करने की व्यवस्था करें। 

७) बहुत अधिकारी अच्छा कार्य कर रहे हैं। इसलिए श्रेष्ठ कार्य करने वाले अधिकारियों को राज्य सरकार की ओर से पुरस्कृत किया जाना चाहिए और भ्रष्ट और जनता को परेशान करने वाले अधिकारियों को सुधारा जाना चाहिए।कोल्हान प्रमंडल के पुलिस उप महानिरीक्षक  राजीव रंजन सिंह सभी दृष्टियों से सभी मानकों पर श्रेष्ठ कार्य कर रहे हैं।

ReplyForward

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!